TRP का फुल फॉर्म क्या है, और TRP value कैसे निकला जाता है

TRP का मतलब टेलीविजन रेटिंग प्वाइंट है। यह एक प्रकार का कैलकुलेशन है जिससे एक टेलीविजन कार्यक्रम की लोकप्रियता का पता लगाया जाता है। इसका उपयोग यह निर्धारित करने के लिए किया जाता है कि कौन सा टेलीविजन कार्यक्रम सबसे अधिक देखा जाता है।

TRP or Television Rating Point, यह किसी टेलीविशन कार्यक्रम के 30 दिनों की अवधि के लिए दर्शकों की एक रेटिंग है। भारत में INTAM (Indian Television Audience Measurement) एकमात्र इलेक्ट्रॉनिक रेटिंग एजेंसी है जो TRP निर्धारित करती है। TRP के परिणामों का उपयोग Advertisers द्वारा अपने विज्ञापनों को अधिक से अधिक लोकप्रिय बनाने के लिए और मीडिया चैनलों द्वारा उनके शो टाइमिंग की योजना बनाने के लिए किया जाता है।

एजेंसी TRP की गणना करने के लिए दो तरीकों का उपयोग करती है-

1) Frequency Monitoring Method या पारंपरिक विधि:

इस विधि में टीआरपी की गणना करने के लिए, एक उपकरण को कुछ हजार दर्शकों के घरों के टीवी सेट से जोड़ दिया जाता है। इस डिवाइस को पीपल्स मीटर ( एक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण जो स्वचालित रूप से देखे गए चैनलों की Frequency रिकॉर्ड करता है ) कहा जाता है और यह उस समय और प्रोग्राम को रिकॉर्ड करता है जिसे दर्शक किसी खास दिन देखता है। उसके बाद दर्शकों की स्थिति जानने के लिए औसतन 30 दिन की अवधि ली जाती है। लोगों का मीटर एक बहुत महंगा उपकरण है जिसे विदेशों से आयात किया जाता है।

TRP = Reach among target audience (%) x Average frequency

2) Picture Matching Technique या आधुनिक विधि

इस पद्धति का उपयोग करते हुए, एक विशिष्ट सिग्नल Satellite चैनलों के माध्यम से वीडियो सिग्नल के साथ प्रेषित होता है। ये वीडियो सिग्नल विशेष अंतराल पर प्रसारित होते हैं और इसलिए, इस पद्धति को Picture Matching Technique कहते है। INTAM स्टेशन पर हर चैनल सिग्नल को डिकोड किया जाता है और TRP जेनरेट किए जाते हैं।

We will be happy to hear your thoughts

Leave a reply

हिन्दीदुनिया
Logo