महान चाणक्य के अनमोल विचार | Chanakya Quotes in Hindi

chanakya niti

महान चाणक्य के अनमोल विचारो को जानने से पहले हम ये जान लेते है की चाणक्य कौन थे?

चाणक्य राजा चन्द्रगुप्त मौर्य के महामंत्री थे। उनका असली नाम ‘कौटिल्य’ हैं। वे तक्षशिला विश्वविद्यालय के आचार्य थे। वे अर्थशास्त्र के महान ज्ञानी पुरुष थे, उनके द्वारा रचित अर्थशास्त्र तथा चाणक्य नीति नामक ग्रन्थ राजनीति, अर्थनीति, कृषि, समाजनीति आदि के महान ग्रंन्थ माने जाते है।

चाणक्य निति से जुडी कुछ प्रमुख किताबे

महान चाणक्य के कुछ अनमोल विचार Chanakya Niti & Quotes in Hindi

chanakya-niti-book-01.jpg

“लक्ष्य के बिना जीवन , बिना पता लिखे लिफाफे की तरह है , जो किसी मुकाम पर नहीं पहुँचता !!”

— चाणक्य

जीवन पर चाणक्य के कुछ अनमोल विचार

“जैसे एक बछड़ा हज़ारो गायों के झुंड मे अपनी माँ के पीछे चलता है। उसी प्रकार आदमी के अच्छे और बुरे कर्म उसके पीछे चलते हैं।”

~ आचार्य चाणक्य

“क्रोध अकेला आता है मगर हमसे सारी अच्छाईया ले जाता है,और सब्र भी अकेला आता है मगर हमें सारी अच्छाईया दे जाता हैं।”

~ आचार्य चाणक्य

“एक राजा की ताकत उसकी शक्तिशाली भुजाओं में होती है। ब्राह्मण की ताकत उसके आध्यात्मिक ज्ञान में और एक औरत की ताक़त उसकी खूबसूरती, यौवन और मधुर वाणी में होती है।”

~ आचार्य चाणक्य

“कोई भी व्यक्ति अपने कार्यो से महान होता है, अपने जन्म से नहीं।”

~ आचार्य चाणक्य

“मनुष्य को ऐसे देश में बिलकुल भी नहीं रहना चाहिए जहाँ पर रोज़गार की सुविधा न हो, आदर न हो, शुभचिंतक न हो तथा अंततः शिक्षा प्राप्त करने के स्त्रोत न हों।”

~ आचार्य चाणक्य

“एक बेवकूफ व्यक्ति के लिए पुस्तक उतनी ही उपयोगी होती है जितना दर्पण एक अंधे व्यक्ति के लिए उपयोगी है।”

~ आचार्य चाणक्य

विद्यार्थियों के लिए चाणक्य के विचार

“किसी भी कार्य में पल भर का भी विलम्ब ना करें।”

~ आचार्य चाणक्य

“समय को समझने वाला कार्य सिद्ध करता है।”

~ आचार्य चाणक्य

“जैसे ही भय आपके करीब आये, उसपर आक्रमण कर उसे नष्ट कर दीजिये।

~ आचार्य चाणक्य

“हर एक दोस्ती के पीछे कोई न कोई स्वार्थ होता हैं कोई भी दोस्ती स्वार्थ के बिना नहीं होती यह एक कड़वा सच हैं। “

~ आचार्य चाणक्य

परिवार के लिए चाणक्य के विचार

“परिवार को मालिक बन कर नहीं बल्कि माली बनकर संभालो

जो ध्यान तो सबका रखता हो पर अधिकार किसी पर न जताता हो। “

~ आचार्य चाणक्य

“दुष्ट स्त्री बुद्धिमान व्यक्ति के शरीर को भी निर्बल बना देती है।”

~ आचार्य चाणक्य

“जीवन में हमेशा एक दूसरे को समझने का प्रत्यन करिये परखने का नहीं। “

~ आचार्य चाणक्य

“संकटकाल में जो व्यक्ति आपकी सहृदयता से सहायता करता है, वही सच्चे अर्थों में आपका मित्र और भाई होता है. अतः संकट काल में जिन लोगो से सहायता प्राप्त हो उन्हें किसी भी मूल्य पर नहीं भूलना चाहिए. नहीं।”

~ आचार्य चाणक्य

चाणक्य के प्रेणनादायक विचार

“प्रशंसा से पिघलना मत, क्रोध से जलना मत, आलोचना से उबलना मत, और शब्दों में फिसला मत।”

~ आचार्य चाणक्य

“जितना बड़ा संघर्ष होगा , जीत उतनी ही शानदार होगी..!!”

~ आचार्य चाणक्य

” असफलता के बाद हौसला रखना आसान है, लेकिन सफलता के बाद नम्रता रखना उतना ही कठिन है।

~ आचार्य चाणक्य

” एक बार यदि आपने कोई काम करना शुरू कर दिया, तो असफलता से मत डरिये। जो लोग इमानदारी से काम करते है वे हमेशा खुश होते है।

~ आचार्य चाणक्य

1 Comment
  1. शानदार जबरदस्त जिंदाबाद

Leave a reply

हिन्दीदुनिया
Logo
Shopping cart